आघात

आघात से काँपती हैं चीज़ें

अनाघात से उससे ज़्यादा

आघात की आशंका से

काँपते हुए पाया ख़ुद को।

Leave a Reply