तन्हा – डी के निवातिया

तन्हा
***

कहाँ चल दिये हमे तन्हा छोड़ के
बेदर्दी से ये नाज़ुक दिल तोड़ के
क्या रह पाओगे खुद भी चैन से
छोड़कर हमे ऐसे नाज़ुक मोड़ पे !!
!
!
डी के निवातिया

2 Comments

  1. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 11/04/2019
  2. Bhawana Kumari Bhawana Kumari 14/04/2019

Leave a Reply