छंद – त्रिभंगी – सी.एम्.शर्मा (बब्बू)…

विधा: छंद – त्रिभंगी – एक प्रयास….

(मेरी जानकारी में यह छंद सबसे कठिन छंदों की श्रेणी में आता है… ३२ मात्रिक छंद के चार चरणों में कहीं भी यगण (१२१) नहीं आना चाहिए…तीन चरणों में तुकांत …यति १०,८,८,६ की और चरणान्त गुरु अनिवार्य… प्रयास किया है… सुधीजनों का हर सुझाव शिरोधार्य….)

सुर नर मुनि गावन, हरि पद पावन, मन अति भावन, हिय हर्षा….
सब रोग नसावन, सब सुख दायन, राम रसायन, पी मनवा…

\
/सी.एम्.शर्मा (बब्बू)

4 Comments

  1. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 19/03/2019
    • C.M. Sharma C.M. Sharma 22/03/2019
  2. डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 19/03/2019
    • C.M. Sharma C.M. Sharma 22/03/2019

Leave a Reply