अबके बरस होली में-शिशिर मधुकर

अबके बरस होली में
घोल नशा बोली में
प्यार से बुला ले मुझे
अंग तू लगा ले सजन
रंग लगी चोली में

कलियों पे भंवरे मचल रहे
अरमान मेरे अंग अंग में पल रहे
मैं तुझको खुशी दे दूँ
हर दर्द तेरा ले लूँ
एक अपनी झोली में

अबके बरस…….

हर तरफ़ मिलने का राग है
ए सनम ये ही तो फाग है
ऋतुओं का बदलना
तनहाइयों का खलना
आ ले जा मुझे डोली में

अबके बरस……

शिशिर मधुकर

8 Comments

  1. C.M. Sharma C.M. Sharma 19/03/2019
    • Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 19/03/2019
  2. डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 19/03/2019
    • Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 19/03/2019
  3. Bhawana Kumari Bhawana Kumari 19/03/2019
    • Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 19/03/2019
  4. Pintu choudhary 21/03/2019
    • Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 22/03/2019

Leave a Reply