काम जोरो पर है – डी के निवातिया

काम जोरों पर है

+++
***
फूटी किस्मत लिखी, कागज़ कोरों पर है,
खुद करके काली करतूत दोष औरों पर है !!

टूट-फूट कर बिखरें, भू-माता के टुकड़ें
उनकी मरम्मत का काम जोरों पर है !!

पूरा होने की आस कतई मत रखना
सुना है इसका जिम्मा अब चोरों पर है !!

हो हुल्लड़ करना, फिजूल रोब ज़माना,
ये काम, छटें-छटायें हरामखोरों पर है !!

सलामती की अब कोई भी आस न रखना
क्योंकि मोर पकड़ने का कामचोरों पर है !!

साम्प्रदायकिता सद्भाव न जाने किस मोड़ पे
इनकी देख-रेख का भार, आदमखोरों पर है !!

रक्षा करना अब खुद की अराजकता से
“धर्म” सुधार का काम ज़ुबानजोरों पर है !!
!
!
!
डी के निवातिया

 

6 Comments

  1. C.M. Sharma C.M. Sharma 19/03/2019
    • डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 19/03/2019
  2. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 19/03/2019
    • डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 19/03/2019
  3. Bhawana Kumari Bhawana Kumari 19/03/2019
    • डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 26/03/2019

Leave a Reply