प्यार की गरमाहट ।

अच्छा किया ठंड़े बस्ते में ड़ाला, मेरे जज़बातों को…!
वरना तेरे प्यार की गरमाहट से, पिघल जाता मैं…!

मार्कण्ड दवे । दिनांकः ०७-०१-२०१९.

4 Comments

  1. डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 07/01/2019
    • Markand Dave Markand Dave 08/01/2019
  2. C.M. Sharma C.M. Sharma 08/01/2019
    • Markand Dave Markand Dave 09/01/2019

Leave a Reply