मुखौटा

सब कहते हैं ख़ुशी होती है तुम्हारी मुस्कुुराहट को देखकर,
दिल उत्साहित होता है चेहरे से झलकती खुशियों की आहट को देखकर,
हमने ना कहा उनसे, वक़्त के तजुर्बे को दिल ने जंजीरों में जकड़ रखा है,
खुशियाँ दिखाती अखियों ने आंसुओं को पलकों से पकड़ रखा है,
अन्दर भावनाओं का उफान किसी तूफ़ान सा उमड़ रखा है,
बह ना जाए ये कहर आपे से बाहर,
बस इसीलिए हमने खुशियों का मुखौटा पहन रखा है.

6 Comments

    • shrija kumari shrija kumari 15/01/2019
  1. C.M. Sharma C.M. Sharma 17/12/2018
    • shrija kumari shrija kumari 15/01/2019
  2. डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 17/12/2018
    • shrija kumari shrija kumari 15/01/2019

Leave a Reply