राजनीति

आज मुद्दा विकास का राम मंदिर के रूप में आया है,
किसान और किसानी के मुद्दों को अधर में लटकाया है,
धर्म और जाति के नाम पर हिन्दू मुस्लिम को भटकाया है,
महापुरुषों के नाम पर ये राजनितिक दांव-पेंच खेलते है,
आम जनता की उम्मीदों को वोटों के तराजू में तोलते हैं,
सत्ता के लोभ ने इंसानियत को नोच खाया है,
क्या कहे जनाब,, सब कुर्सी की माया है.

2 Comments

  1. Bindeshwar prasad sharma Bindeshwar prasad sharma 16/12/2018
    • shrija kumari shrija kumari 15/01/2019

Leave a Reply