तेरी याद

एक आस अधूरी हैं, एक दर्द पुरानी हैं
मेरे सीने मे अब भी ,तुझसे ईश्क जवा ही हैं
तू मिल न सकी मुझको, मेरा जीवन निशा कर दी
पर सुक्र तेरी यादे,मैने चीराग बना ली हैं।

Leave a Reply