कन्यादान

नाजों से पाला है उसको,
पलकों पर उसे बिठा रखना.
आपकी बहु आपका सम्मान,
हमारा छोटा सा बलिदान समझना.

लड़केवाले हो आप नाक ऊँची तो होगी ही
अकड़ हो ना हो शान अनोखी होगी ही

पर छोटे हम भी नहीं जो कर डाला इतना बड़ा काम समझना,
सौंपा जिगर का टुकड़ा आपको, आप उसे हमारा कन्यादान समझना

2 Comments

  1. C.M. Sharma C.M. Sharma 05/12/2018
    • shrija kumari shrija kumari 10/12/2018

Leave a Reply