किताब

तुम मेरे गीत,गजल,राग बन जाओ
मेरी शायरी का हर जवाब बन जाओ
लिख सकूँ ,तुम पर, हर नज्म,अ हशीं
काश तुम ख्वाबों की वो किताब बन जाओ

2 Comments

  1. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 23/11/2018
  2. rakesh kumar Rakesh kumar 01/12/2018

Leave a Reply