तेरे इन्तज़ार में – सर्वजीत सिंह

तेरे इन्तज़ार में

सुबह से शाम हो गई तेरे इन्तज़ार में
अब देर ना करो तुम अपने दीदार में

यहाँ पर तो लोग आते जाते बहुत हैं
कोई खलल ना डाल दे हमारे प्यार में

तड़प रहा है ये दिल हो के बेसबर सा
अब नहीं है मेरा दिल मेरे इख़्तियार में

गर लब से ना कहो तो कोई बात नहीं
इशारा ही कर दो आँखों से इकरार में

दिल तुम्हे दिया है जान भी लुटा देंगे
तेरी प्यारी सी महोब्बत के इज़हार में

सर्वजीत सिंह

3 Comments

  1. C.M. Sharma C.M. Sharma 15/11/2018
  2. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 16/11/2018
  3. डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 19/11/2018

Leave a Reply