प्यार होता है क्या

प्यार होता है क्या
मैं नही जानता
कोई बादल बिगडैल
जब आसमां छोड़ कर
धरा से मिल जाए
प्यार शायद वहीं
फिर से शुरू हो जाये

कही नाचते रहे मोर
कहीं पपीहा गुनगुनाये
कोयल कूके
सुन के कृष्ण की बांसुरी
राधिका वृन्दावन में
चूड़ियां खनकाये
प्यार शायद वहीं
फिर से शुरू हो जाये

प्यार होता है क्या
मैं नही जानता
कामदेव के वाण
जब रति को बहकाये
जब मीरा कहीं ,कृष्ण गीत गाये
बावरी बन कर मंदिर की घंटियां बजाए
प्यार होता है वही
वहीं शुरू हो जाये—-अभिषेक राजहंस

One Response

  1. C.M. Sharma C.M. Sharma 08/11/2018

Leave a Reply