मर्यादा पुरुषोत्तम राम – डी के निवातिया

मर्यादा पुरुषोत्तम राम

***

मेरे रोम रोम में बसने वाले राम
तुमने सुधारें सबके बिगड़े काम
साक्षात् मर्यादा के तुम हो रक्षक
तुम से सुबह मेरी तुम से शाम !!

!

डी के निवातिया

 

5 Comments

  1. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 18/10/2018
  2. Bhawana Kumari Bhawana Kumari 19/10/2018
  3. C.M. Sharma C.M. Sharma 22/10/2018
  4. Rajeev Gupta Rajeev Gupta 22/10/2018
  5. Rinki Raut Rinki Raut 22/10/2018

Leave a Reply