कृष्ण – बिन्देश्वर प्रसाद शर्मा – बिन्दु

 

ऐ कान्हा चितचोर,कृष्ण जन्माष्टमी में आप के जीवन खुशियों से भर जाए यही मेरी शुभकामनाएं हैं।

ऐ कान्हा चितचोर, लौट कर आ जाओ
माथे पर पंख मोर, लौट कर आ जाओ।
हर युग में दौड़कर, तुम आ जाते हो
नन्द  माखन चोर, लौट कर आ जाओ।
हर बार तुम, रूप बदलकर आ जाते हो
त्राहि मचि चहु ओर, लौट कर आ जाओ।
देर करते क्यों हो , जल्दी तुम आ जाओ
हर जगह मची शोर, लौट कर आ जाओ।

  1. बिन्देश्वर प्रसाद शर्मा – बिन्दु

    बाढ़ – पटना

3 Comments

  1. Bhawana Kumari Bhawana Kumari 03/09/2018
  2. C.M. Sharma C.M. Sharma 04/09/2018
  3. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 04/09/2018

Leave a Reply