अगर पक्का इरादा है – शिशिर मधुकर

अगर पक्का इरादा है तो रस्ता बन ही जाता है
कहीं भी रोक लो पानी जमीं में छन ही जाता है

ये दलदल मुहब्बत का बहुत गहरा सा होता है
जो इसमें गिर गया पूरी तरह से सन ही जाता है

मुहब्बत मिल गई जिसको आज असली ज़माने में
वो इंसा तो खुशी के साथ में बस तन ही जाता है

किसी का प्यार पाने की अगर लोगों में चाहत है
रकीबों के बीच एक बैर तो फिर ठन ही जाता है

लाख कोशिश करी उल्फ़त से हरदम दूर रहने की
ये त्योहार मधुकर फिर भी हमेशा मन ही जाता है

शिशिर मधुकर

8 Comments

  1. Bhawana Kumari Bhawana Kumari 05/09/2018
    • Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 05/09/2018
  2. ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 05/09/2018
    • Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 06/09/2018
  3. C.M. Sharma C.M. Sharma 06/09/2018
    • Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 06/09/2018
  4. Anand kumar shaw 03/10/2018
    • Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 04/10/2018

Leave a Reply