सनम तेरे लिए – डी के निवातिया

सनम तेरे लिए

***

ये दिल धड़कता है बस एक तुझे देखने से
आती – जाती ये साँसे भी रुकने लगती है !
मुहब्बत इतनी है सनम तेरे लिए दिल में
ये रूह भी खुद ही खुद में तड़पने लगती है !
चैन मिलता सिर्फ एक तेरे दीदार होने से
वरना जिंदगी मौत से बदतर लगने लगती है !!

!

डी के निवातिया

 

4 Comments

  1. C.M. Sharma C.M. Sharma 25/08/2018
    • डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 20/09/2018
  2. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 26/08/2018
    • डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 20/09/2018

Leave a Reply