ll अटल सदैव अटल रहेगा ll

O

‘अटल’ नामधारी मै जीवन भर रहा सदा ही अटल l
मेरी स्मृतियाँ संजो रखेगा आने वाला कल ll 1 ll
काल के कपाल पर लिखते मिटाते मैंने कठिनाइयों से मानी नहीं हार l
कठिनाइयों को अस्त्र बनाकर जीवन नैय्या लगाई पार ll 2 ll
भय से भयभीत न हुआ कभी हार से ना मानी मैने हार l
नाम सार्थक हुआ मेरा गईं विपत्तियाँ मुझसे हार ll 3 ll अटलता ही मेरा ‘अस्त्र’ अटल ‘अटल’ का पाया मैंने नाम l
मेंरा संकल्प रहा रहा अटल बाधाएँ सारी हुई नाकाम ll 4 ll
‘युगपुरुष’ ‘पुरोधा’ ‘राजनीतिज्ञ’ के पाए मैंने नाम l
भावुक ह्रदयों ने कहा ‘कवि’ मुझको पाए मैंने अनेको नाम ll 5 ll
जन जन का स्नेह प्रेम जीवन को करता रहा सिंचित l
कभी न कोई रही रिक्तता कर सकती जो मुझे विचलित ll 6 ll
जनादेश मिला मुझको देश की संभाली बागडोर l ‘लोकप्रिय’ नायक की छवि पायी संभाले हुए सत्ता की कोर ll 7 ll
दीर्घकाल से झेलते हुए दंश बीमारी का आया अंतिम निर्णय का समय l
काल ‘अटल’ और मैंने मैं भी ‘अटल’ देखें किसकी होती है जय ll 8 ll
उससे ना कोई जीत सका मै भी इसका अपवाद नहीं l
पर रहूँगा अटल उसके समक्ष भय की होगी कोई छाप नहीं ll 9 ll
ओ मृत्यु कहाँ है दंश तेरा श्मशान कहां है विजय तेरी l
मै तो चलने को आतुर हूँ तू छेड़ अपनी विजय भेरी ll 10 ll
अटल की स्मृतियाँ को याद करेगा आने वाला ‘कल’
जीवन कितना रहा ‘अटल’ बतलाएगा आने वाला ‘कल’ ll 11 ll

6 Comments

  1. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 17/08/2018
  2. Hariom Upadhyay 17/08/2018
  3. ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 17/08/2018
  4. अंजली यादव Anjali yadav 18/08/2018
  5. C.M. Sharma C.M. Sharma 18/08/2018
  6. अखिलेश प्रकाश श्रीवास्तव अखिलेश प्रकाश श्रीवास्तव 18/08/2018

Leave a Reply