ट्रफिक सिग्नलो पर तिरंग

बिकने लगे हैं , ट्रफिक सिग्नलो पर तिरंगे
ज़रूर जनवरी या अगस्त का माह होगा
कुछ ऐसे द्रश्य भी उभर आयेंगे सड़कों पर
देखना तिरंगे का कितना सम्मान होगा

तिरंगे को ऊँचे स्तंभो पर लगा रहे हैं
आजादी का 70 वा ज़शन मना रहे हैं
बेच रहे हैं सिग्नलो पर तिरंगे
कुछ अब भी भूखे , कुछ अब भी नंगे

लुट रही हैं मेरे देश कि मिट्टी
देश में देसभकती कि एक होड चली
उस नंगे बदन बच्चे से खरीदकर तिरंगा
देखो हमने भी ज़रा सी देसभकती ओढ़ ली

तिरंगे ने देश कि कितनी लाज रखी हैं
पूरे भारत को अपने भीतर समेट कर
वीर जवान शहीद सैनिक कि लाश , ओर
सड़क पर न्नहे सैनिक कि भूख सही हैं

One Response

  1. Rinki Raut Rinki Raut 05/08/2018

Leave a Reply