प्रश्न चिन्ह

प्रश्न चिन्ह

क्या ,क्यूँ ,कब ,कैसे

इन्हीं शब्दों में
सिमट जाती है ज़िन्दगी
जवाब इनके मिलते नहीं
कट जाती है ज़िन्दगी

रिश्ते निभाने में
बँट जाती है ज़िन्दगी
देह में रह कर भी
नहीं जी पाती है ज़िन्दगी

यह क्या हुआ ,क्यूँ हुआ
कब हुआ ,कैसे हुआ
कुछ और नहीं
इन्हीँ शब्दों का
अर्थ है ज़िन्दगी

10 Comments

  1. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 12/07/2018
    • kiran kapur gulati kiran kapur gulati 12/07/2018
  2. ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 12/07/2018
    • kiran kapur gulati kiran kapur gulati 12/07/2018
  3. Dr Swati Gupta Dr Swati Gupta 12/07/2018
    • kiran kapur gulati kiran kapur gulati 12/07/2018
  4. C.M. Sharma C.M. Sharma 13/07/2018
    • kiran kapur gulati kiran kapur gulati 14/07/2018
  5. डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 13/07/2018
    • kiran kapur gulati kiran kapur gulati 14/07/2018

Leave a Reply