गीत – बिन्देश्वर प्रसाद शर्मा (बिन्दु)

तू मेरे मन मीत, तेरी अजब कहानी
दिल लिया है जीत, तेरी अजब कहानी।

तेरी सूरत चाँद से कितना मिलता है
हंसती हो तो फूल के जैसा खिलता है
हो गया तुमसे प्रीत, तेरी अजब कहानी
दिल लिया है जीत, तेरी अजब कहानी।

दिल लगा है आँख में जादू टोना है
फिसल गये तो जीवन भर ही रोना है
इस दुनिया की रीत तेरी अजब कहानी
दिल लिया है जीत, तेरी अजब कहानी।

ऐसे – वैसे नखरे अब कितने होते हैं
मंजिल भी पाकर उनको ये खोते हैं
प्रेम है बंधन गीत तेरी अजब कहानी
दिल लिया है जीत, तेरी अजब कहानी।

सच्चा प्रेमी प्यार जो सच्चा करता है
एक दूजे पर जान से ज्यादा मरता है
सब कोई करे प्रतीत तेरी अजब कहानी
दिल लिया है जीत, तेरी अजब कहानी।

One Response

  1. Dr Swati Gupta Dr Swati Gupta 17/06/2018

Leave a Reply