स्वयं को सौंप कर स्वयं से हारी हूँ,मैं एक नारी हूँ।

स्वयं को सौंप कर,मैं स्वयं से हारी हूँ,
मैं एक नारी हूँ।
कर्तव्यों को रखा सर्वोपरि,
अधिकारों को न् मोल दिया,
अपनो की खातिर,अपने ख्वाबों को,
पल भर में ही तोड़ दिया,
सब कुछ अपना बारी हूँ,
मैं एक नारी हूँ।
रस्म रिवाजों को हँसते हँसते,
मैंने स्वीकार किया,
बाबुल का आँगन छोड़ा,
अनजाने रिश्तों से नाता जोड़ा,
नए रिश्तों में फिर भी मैं परायी हूँ,
मैं एक नारी हूँ।
सम्वेदनाएँ,भावनाओं को,
मन के भीतर ही दबा दिया,
आंसुओं को अपनी ही,
मुस्कुराहट के पीछे छिपा दिया,
फिर भी मैं एक बेचारी हूँ,
मैं एक नारी हूँ।
स्वयं को सौंप कर,मैं स्वयं से हारी हूँ,
मैं एक नारी हूँ।।
By:Dr Swati Gupta

19 Comments

  1. ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 22/05/2018
    • Dr Swati Gupta Dr Swati Gupta 24/05/2018
    • Dr Swati Gupta Dr Swati Gupta 24/05/2018
  2. Bhawana Kumari Bhawana Kumari 22/05/2018
    • Dr Swati Gupta Dr Swati Gupta 24/05/2018
  3. C.M. Sharma C.M. Sharma 23/05/2018
    • Dr Swati Gupta Dr Swati Gupta 24/05/2018
  4. Madhu tiwari Madhu tiwari 23/05/2018
    • Dr Swati Gupta Dr Swati Gupta 24/05/2018
  5. डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 23/05/2018
    • Dr Swati Gupta Dr Swati Gupta 24/05/2018
  6. Reena 23/05/2018
    • Dr Swati Gupta Dr Swati Gupta 24/05/2018
  7. nitesh banafer nitesh banafer 23/05/2018
    • Dr Swati Gupta Dr Swati Gupta 24/05/2018
  8. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 24/05/2018
    • Dr Swati Gupta Dr Swati Gupta 24/05/2018
  9. कृष्णा पाण्डेय Krishna 18/06/2018

Leave a Reply