माँ – अनु महेश्वरी

माँ होती है ममता की मूरत,
उससे प्यारी न कोई सूरत।

बच्चों के सुख में जिसे खुशी है मिलती,
उसके मुख से आशीष की धारा है बहती।

बच्चों के खातिर जो हर पीड़ा है सहती,
फिर भी कभी किसीसे कुछ न है कहती।

माँ का वर्णन करू, ऐसे शब्द कहाँ से मैं लाऊँ,
माँ के सान्निध्य का सुख और कहाँ से मैं पाऊँ।

 

अनु महेश्वरी

12 Comments

  1. C.M. Sharma C.M. Sharma 14/05/2018
    • ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 17/05/2018
  2. Bhawana Kumari Bhawana Kumari 14/05/2018
    • ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 17/05/2018
  3. डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 14/05/2018
    • ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 17/05/2018
  4. Dr Swati Gupta Dr Swati Gupta 14/05/2018
    • ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 17/05/2018
  5. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 15/05/2018
    • ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 17/05/2018
  6. mukta mukta 15/05/2018
    • ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 17/05/2018

Leave a Reply