मेरा मुल्क किस तरफ जा रहा है..Raquim Ali

आते-आते अब मेरे देश में
एक ऐसा अज़ीब ज़माना आया है;
बलात्कारी-हत्यारे को समर्थन देकर
वकीलों ने प्रदर्शन करके हीरो बनाया है।

अब तो बलात्कार और हत्या का भी
जातिकरण, साम्प्रदायिकरण होता जा रहा है;
हर तरह के घिनौने-जघन्य अपराध का
व्यवसायीकरण, राजनैतिककरण होता जा रहा है।

बलात्कारी और हत्यारा घूम रहा है, आंखें दिखा रहा है
मीडिया चटखारे ले रहा है, बहस पर बहस कर रहा है;
संवेदनाएं तेजी से सूख रही हैं, हम शर्मशार नहीं होते
लोगों जरा सोचो, मेरा मुल्क किस तरफ जा रहा है?
…र.अ. bsnl

7 Comments

  1. Bindeshwar prasad sharma Bindeshwar Prasad sharma 18/04/2018
  2. C.M. Sharma C.M. Sharma 19/04/2018
  3. Bhawana Kumari Bhawana Kumari 19/04/2018
  4. raquimali raquimali 19/04/2018
  5. mukta mukta 19/04/2018
  6. डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 20/04/2018
  7. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 20/04/2018

Leave a Reply