हाइकु – बिन्देश्वर प्रसाद शर्मा (बिन्दु)

कवि – बिन्देश्वर प्रसाद शर्मा (बिन्दु)
हाइकु

पानी का स्त्रोत
रसातल की ओर
गहरी चिंता।

तपती धरा
जेठ की दोपहरी
सूखता जल।

एक कदम
स्वच्छता अभियान
स्वच्छ भारत।

कटते पेड़
घटते उपवन
त्रस्त मौसम।

ध्वनि या धूंआ
घातक प्रदुषण
जान है लेता।

साफ- सफाई
कचरा अभियान
रखना ध्यान।

6 Comments

  1. Madhu tiwari Madhu tiwari 03/04/2018
  2. ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 04/04/2018
  3. Bhawana Kumari Bhawana Kumari 04/04/2018
  4. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 05/04/2018
  5. डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 05/04/2018
  6. C.M. Sharma C.M. Sharma 07/04/2018

Leave a Reply