मित्र- मधु तिवारी

💐मित्र💐…मधु तिवारी

“कैसा हो मित्र” पर सवाल होना चाहिए
दोस्ती का भाव बेमिसाल होना चाहिए

निर्बल बली का साथ, होय तो क्या बात है
सुग्रीव-राम मित्र सा,मिसाल होना चाहिए

निर्धन-धनी का साथ, मिल जाय तो क्या बात है
सुदामा मित्र कृष्ण का,कमाल होना चाहिए

उग्र औऱ धीर भी मिले तो बड़ी बात है
लखन औऱ राम जस,धमाल होना चाहिए

वीर संग विवेकी हो,तो भी बड़ी बात है
पार्थ-कृष्ण मित्रता सा, हाल होना चाहिए

लोकहित कष्ट सहे, तो भी बड़ी बात है
राम -सिया सुलह की, ताल होना चाहिए

मित्र की रखे जो लाज,तो भी बड़ी बात है
कृष्ण हस्त द्रोपदी का, भाल होना चाहिए
✍🏻मधु तिवारी, दुर्ग,छत्तीसगढ़
💐💐💐💐💐💐💐💐

18 Comments

  1. Rajeev Gupta Rajeev Gupta 18/01/2018
  2. ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 18/01/2018
  3. C.M. Sharma C.M. Sharma 19/01/2018
    • Madhu tiwari Madhu tiwari 19/01/2018
  4. डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 19/01/2018
    • Madhu tiwari Madhu tiwari 19/01/2018
  5. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 19/01/2018
  6. अरुण कुमार तिवारी अरुण कुमार तिवारी 19/01/2018
  7. Arun Kant Shukla अरुण कान्त शुक्ला 19/01/2018
  8. Bindeshwar prasad sharma Bindeshwar Prasad sharma 20/01/2018
  9. Kajalsoni 21/01/2018

Leave a Reply