मुखिया जी – बिन्देश्वर प्रसाद शर्मा (बिन्दु)

मुखिया जी तनी कर दीं भलाई
अपने अकेले ना खाईं मलाई।

नाम होय जाई जब करवा तूं सेवा
गरीब ई जनता के मिल जाइ मेवा
भटकल बा ओकरा के आपन बनाईं
मुखिया जी तनी……. ।

बिना घूस के बनवऽ द शौचालय
फूस के मड़इया तूं कर द शिवालय
मूरख बा ओकरा तू करादऽ पढ़ाई
मुखिया जी तनी……. ।

मनरेगा के लाभ तनी उनको देलावा
जिये के हिसाब तनी उनको सिखावा
जीवन में उनका नऽ बारा सलाई
मुखिया जी तनी…….. ।

सीओ बिडिओ के तूं खुल के बतावऽ
भरे के तिजोरी के अब रहता मेटावऽ
परदा जे बाटे अब ओकरा हटाईं
मुखिया जी तनी कर दीं भलाई।

6 Comments

  1. Kajalsoni 13/01/2018
  2. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 13/01/2018
  3. अखिलेश प्रकाश श्रीवास्तव AKHILESH PRAKASH SRIVASTAVA. 13/01/2018
  4. Bhawana Kumari Bhawana Kumari 13/01/2018
  5. C.M. Sharma C.M. Sharma 15/01/2018
  6. डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 15/01/2018

Leave a Reply