फिर एक हादसा – अनु महेश्वरी

फिर जांच आयोग बैंठेगा,
फिर शिकायतों का दौर चलेगा,
फिर टीवी चैनलों पे वाद-विवाद होगा,
फिर एक दूसरे पे दोषारोपण भी होगा|

पर जिन्होंने भी जान गवाई, उनका क्या दोष था ?
क्यों नहीं, समय रहते कोई संभलता ?
क्यों नहीं, समय रहते कभी विचार-विमर्श भी होता?
क्यों ऐसे हादसे होने तक, कार्यवाही का इंतजार होता?

क्यों नहीं, हम खुद भी जिम्मेदार होते?
क्यों नहीं, हम सच्चे नागरिक का फर्ज़ ही निभाते?
क्यों नहीं, आसपास हो रहे गलत कार्य को,
हम रुकवाने की कोशिश ही करते?

बस अपने बारे में सोचना,
अपना फायदा देखना,
रुको, जरा अपनी गति को विराम तो दो,
किस दिशा में जा रहे, कभी जरा सोच कर देखो भी तो…

 

अनु महेश्वरी
चेन्नई

20 Comments

  1. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 29/12/2017
    • ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 02/01/2018
    • ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 02/01/2018
  2. C.M. Sharma C.M. Sharma 30/12/2017
    • ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 02/01/2018
  3. Madhu tiwari Madhu tiwari 30/12/2017
    • ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 02/01/2018
    • ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 02/01/2018
  4. Bhawana Kumari Bhawana Kumari 30/12/2017
    • ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 02/01/2018
  5. Bindeshwar prasad sharma Bindeshwar Prasad sharma 30/12/2017
    • ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 02/01/2018
  6. डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 30/12/2017
    • ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 02/01/2018
  7. Kajalsoni 01/01/2018
    • ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 02/01/2018
  8. Rajeev Gupta Rajeev Gupta 02/01/2018
    • ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 02/01/2018

Leave a Reply