==* है जिंदा कहानी वो *==

उस चुंबन में मेरे
थी शिद्दत मुहब्बत की
मगर तूने मानी
वो आदत मुहब्बत की

हमेशा ही मनमे
थी चाहत मुहब्बत की
मगर तू न जानी
इबादत मुहब्बत की

वो तस्वीर झूटी
हकीकत मुहब्बत की
लबों से लबों तक
शराफत मुहब्बत की

तू गुम है मगर
याद यादें मुहब्बत की
है जिंदा कहानी वो
रुकी साँसे मुहब्बत की
——————//**–
शशिकांत शांडिले, नागपुर
भ्र.९९७५९९५४५०

10 Comments

  1. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 19/12/2017
  2. C.M. Sharma C.M. Sharma 20/12/2017
  3. डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 20/12/2017
  4. Arun Kant Shukla अरुण कान्त शुक्ला 20/12/2017

Leave a Reply