इंसानियत बड़ी — डी के निवातिया

इंसानियत बड़ी

***

मंदिर बने या मस्जिद इस पर बहस लड़ी है
ईश्वर रहेगा या अल्लाह इस पर बात अडी है
जब पूछा जरूररतमंद, भूखे-प्यासे इंसान से
बोला, मिले तो हमारे लिए इंसानियत बड़ी है !!

x-x-x

डी के निवातिया

12 Comments

    • डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 19/12/2017
  1. C.M. Sharma C.M. Sharma 13/12/2017
    • डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 19/12/2017
  2. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 13/12/2017
    • डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 19/12/2017
  3. Arun Kant Shukla अरुण कान्त शुक्ला 13/12/2017
    • डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 19/12/2017
  4. ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 13/12/2017
    • डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 19/12/2017
  5. Madhu tiwari Madhu tiwari 13/12/2017
    • डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 19/12/2017

Leave a Reply