मैं अभिमन्यू हूँ

शीर्षक- मैं अभिमन्यू हूँ

महाभारत की महागाथा का
एक छोटा अध्याय हूँ
पांडवो की जीत का पर्याय हूँ
सुभद्रा के गर्भ से जन्मा
मैं द्रौपदी का बेटा हूँ
भीष्म का गर्व हूँ
उत्तरा का सिन्दूर हूँ
मैं अभिमन्यू हूँ

महाभारत के महायज्ञ की मैं आहुति हूँ
युद्ध के लिए जन्मा
मैं युद्ध का रथी , महारथी हूँ
मैं अर्जुन का पुत्र , कृष्ण का भांजा हूँ
मैं दुश्मनों के दिलो का भी राजा हूँ
मैं अभिमन्यू हूँ

एक ही बाण से चक्रव्यूह चीरने वाला
सात-सात महारथियों से लड़ा हूँ
निशस्त्रहीन हो कर भी युद्ध में खड़ा हूँ
मैं अजेय था, मैं अजय रहा हूँ
मैं धर्म के लिए लड़ा हूँ
धर्म के लिए मरा हूँ
मैं अभिमन्यू हूँ—अभिषेक राजहंस

4 Comments

  1. डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 07/12/2017
    • Abhishek Rajhans 07/12/2017
  2. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 07/12/2017
    • Abhishek Rajhans 07/12/2017

Leave a Reply