मोदी जी ! कुछ करिए

मोदी जी ! कुछ करिए
बहुत हुआ भाइयों और बहनों का संबोधन
बहुत हुआ जुमलेबाजी
बातो की गर्मी से ठंडी चाय मत पिलाइए

मोदी जी ! कुछ करिए
विदेश भ्रमण बहुत हुआ
भरम में मत रहिए
जनता जनार्दन से डरिये

मोदी जी! कुछ करिए
आपके मन की बात से पेट भरता नहीं
कुछ काम की बात भी करिए
जरा खेत की मेड़ो पर तो टहलिए

मोदी जी ! कुछ करिए
पुराने सामान पे नया लेबल मत चिपकाइए
नोटों का रंग बहुत बदल लिया
अब तो भारत को बदलिए

मोदी जी ! जरा संभलिए
बुलेट ट्रेन की बात जाने दीजिये
कुछ जाने बचा लीजिये
किसान की सांस कहीं टूट ना जाए
उनकी उम्मीद तो बन जाइए

मोदी जी ! जरा संभलिए
माना की आप जैसा कोई नहीं
भारत की युवाओ का दम भी तो कम नहीं
स्किल इण्डिया स्टार्टअप इण्डिया स्टैंडअप इंडिया जाने दीजिये
भारत के युवाओ को रोजगार दे दीजिये
कुछ नौकरी का इंतजाम तो करिए
देखिये ! चुनाव नजदीक है
कुछ अब काम कर ही लीजिये
भारत के युवा को बूढ़ा मत होने दीजिये
किसान को आत्महत्या करने से रोकिये
कुछ जादू-वादू कीजिये
आम आदमी की ज़िन्दगी बदल दीजिये
मोदी जी ! कुछ करिए
———————अभिषेक राजहंस

4 Comments

  1. Bindeshwar prasad sharma Bindeshwar Prasad sharma 16/11/2017
  2. Arun Kant Shukla अरुण कान्त शुक्ला 16/11/2017
  3. Sukhbir95 18/11/2017
  4. Kajalsoni 19/11/2017

Leave a Reply