नई शुरुआत करते हैं – शिशिर मधुकर

भले ही मुद्दतों से हम ना तुमसे बात करते हैं
तेरे ख़्वाबों में ही लेकिन बसर दिन रात करते हैं

ये माना बाग़ उजड़ा है बहारें अब ना आती हैं
उम्मीदें मन में रख मेघा फिर भी बरसात करते हैं

जिन्हें इस ज़िन्दगी में प्यार में भगवान दिखता है
हदें सब तोड़ कर वो फिर से मुलाक़ात करते हैं

भूल कुछ हो गईं तुमसे चूक मैंने भी कर डालीं
चलो फिर से मुहब्बत में नई शुरुआत करते हैं

वक्त रुकता नहीं मधुकर ज़माना चाहे कुछ कर ले
चलो हम तुम फिर से मिल के हसीं हालात करते हैं

शिशिर मधुकर

17 Comments

  1. Bindeshwar prasad sharma Bindeshwar Prasad sharma 11/11/2017
    • Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 11/11/2017
  2. Madhu tiwari Madhu tiwari 11/11/2017
    • Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 11/11/2017
  3. Bhawana Kumari Bhawana Kumari 11/11/2017
    • Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 11/11/2017
  4. ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 11/11/2017
    • Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 12/11/2017
  5. Arun Kant Shukla अरुण कान्त शुक्ला 12/11/2017
    • Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 12/11/2017
  6. आनन्द कुमार आनन्द कुमार 12/11/2017
    • Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 12/11/2017
  7. C.M. Sharma C.M. Sharma 13/11/2017
    • Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 13/11/2017
      • C.M. Sharma C.M. Sharma 14/11/2017
  8. डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 13/11/2017
    • Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 13/11/2017

Leave a Reply