जिन्‍दगी : रामगोपाल सांखला ‘गोपी’

जिन्‍दगी

रूकना तो मौत है, चलने का नाम जिन्‍दगी

गम का सागर है तो, खुशियों का जाम भी है जिन्‍दगी

प्‍यार भरे दिलों की आह, मोहब्‍बत का पैगाम है जिन्‍दगी

इंसानियत के लिए खुदा का, सबसे खूबसूरत ईनाम है जिन्‍दगी

जिन्‍दगी एक सफर है, मौत उसकी मंजिल है

खुशियों की फुहार इसमें, गम का दरिया भी शामिल है

जो लडे हमेशा गम से, दुनियां में उसी की जीत है

जीवन एक संघर्ष है, जिन्‍दगी प्‍यार का गीत है

<———<||>———->

रामगोपाल सांखला ‘गोपी’

 

17 Comments

  1. डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 27/10/2017
    • Ram Gopal Sankhla Ram Gopal Sankhla 30/10/2017
  2. Madhu tiwari Madhu tiwari 27/10/2017
    • Ram Gopal Sankhla Ram Gopal Sankhla 30/10/2017
  3. ANU MAHESHWARI Anu Maheshwari 27/10/2017
    • Ram Gopal Sankhla Ram Gopal Sankhla 30/10/2017
  4. kiran kapur gulati kiran kapur gulati 28/10/2017
    • Ram Gopal Sankhla Ram Gopal Sankhla 30/10/2017
  5. Bindeshwar prasad sharma Bindeshwar Prasad sharma 28/10/2017
    • Ram Gopal Sankhla Ram Gopal Sankhla 30/10/2017
  6. C.M. Sharma C.M. Sharma 28/10/2017
    • Ram Gopal Sankhla Ram Gopal Sankhla 30/10/2017
  7. Arun Kant Shukla अरुण कान्त शुक्ला 28/10/2017
    • Ram Gopal Sankhla Ram Gopal Sankhla 30/10/2017
  8. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 28/10/2017
    • Ram Gopal Sankhla Ram Gopal Sankhla 30/10/2017
  9. Ram Gopal Sankhla Ram Gopal Sankhla 30/10/2017

Leave a Reply