छठी वरतिया

लल्ला तोहरे खातिर कैनी छठी माई के वरतिया
ऐ बेटवा उगिहा तू सुरुज नियन
दूर करियह अन्हरिया
कैनी हम छठ वरतिया
आंगनवा दुअरिया निपनी
खीर , ठेकुआ , पिरिकिया बनेनी
डाला -सूप सभे सजैनी
ऐ बेटा तू कहिया अएबे दुअरिया
तोहरे खातिर कैनी छठी वरतिया
दुल्हिन के लेने अइह
पोतवा के मुहं देखियह
ऐ बेटा तू घरे आइह ना
दीनूआ के माई ताना कसली
कहली- ना ही आई बेटवा तोहार
पोतवा के मुहं नइखे देख सकबू
पुतहिया मोर्डनईया तोहार
उ घरे ना अइहे हो
ऐ बेटवा –
हाथ हमर थर थर कांपत
पनिया में खड़ा होके हिम्मत ना होला
दुल्हिन के बेटवा ले ले अइह
अब उहे करियह छठी माई के वरतिया
बेटवा तू उगियाह सुरुज नियन
दूर करियह अन्हरिया
घरे जल्दी अइयह ना—-अभिषेक राजहंस

13 Comments

  1. nitesh banafer nitesh banafer 26/10/2017
    • Abhishek Rajhans 27/10/2017
  2. Ram Gopal Sankhla Ram Gopal Sankhla 26/10/2017
    • Abhishek Rajhans 27/10/2017
  3. Madhu tiwari Madhu tiwari 26/10/2017
    • Madhu tiwari Madhu tiwari 26/10/2017
    • Abhishek Rajhans 27/10/2017
  4. Meena Bhardwaj Meena Bhardwaj 26/10/2017
    • Abhishek Rajhans 27/10/2017
  5. C.M. Sharma C.M. Sharma 27/10/2017
    • Abhishek Rajhans 27/10/2017
  6. डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 27/10/2017
    • Abhishek Rajhans 28/10/2017

Leave a Reply