हालात – बिन्देश्वर प्रसाद शर्मा – (बिन्दु)

हालात यूंही किसी के अच्छे नहीं होते
प्रेम दोस्ती रिश्ते सब निभाने पड़ते हैं
नफरत अहंकार ईष्या सब बहियात है
रास्ते से हमें ये कांटे हटाने पड़ते हैं।

6 Comments

  1. C.M. Sharma C.M. Sharma 12/10/2017
  2. डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 12/10/2017
  3. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 12/10/2017
  4. ANU MAHESHWARI Anu Maheshwari 12/10/2017
  5. kiran kapur gulati kiran kapur gulati 13/10/2017
  6. sarvajit singh sarvajit singh 13/10/2017

Leave a Reply