श्रृंगार करूंगी – मधु तिवारी

💐श्रृंगार करूंगी 💐मधु तिवारी

आया करवाचौथ पर्व है
मैं सोलह श्रृंगार करूंगी
नखशिख तक सज सँवर के
चन्द्र देव दीदार करूंगी

सही सोंच की बिंदिया से
अपने माथ सजा करके
मधुर वचन की लाली से
ओठों को रंगा करके
प्रिय का इंंतजार करूंगी
मैं सोलह श्रृंगार करूंगी

सच्चे प्रेम का हार पहन
हृदय को सजाना है
सत्कर्म की कंगना से
कलाइयाँ खनकाना है
शांति का अवतार करूंंगी
मैं सोलह श्रृंगार करूंगी

आशीष हिना हथेली पर
नेह कजरा से नैन सवारुँ
विश्वास की करधनी कमर मे
पहन खुद को खूब निखारुँ
क्षमा पैरी छनकार करूंगी
मैं सोलह श्रृंगार करूंगी

बिछुए होंगे समर्पण के
अंगुठियाँ होंगी ममता की
दया रूपी महावर शोभा
बाजुबंद हो समता की
इनसे जीवन सत्कार करूंगी
मैं सोलह श्रृंगार करूंगी

पतिव्रता की ओढ़ चुनरीया
घाघरा पहनूं मर्यादा की
लज्जा चोली में लगाऊं
गोटा जीवन सादा की
पहन अपना उद्धार करूंगी
मैं सोलह श्रृंगार करूगी
मैं सोलह श्रृंगार करूंगी…

रचना….मधु तिवारी,

करवाचौथ की शुभकामनाएं।

17 Comments

  1. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 08/10/2017
  2. kiran kapur gulati kiran kapur gulati 08/10/2017
    • Madhu tiwari Madhu tiwari 08/10/2017
  3. sarvajit singh sarvajit singh 08/10/2017
  4. ANU MAHESHWARI Anu Maheshwari 08/10/2017
  5. Bindeshwar prasad sharma Bindeshwar prasad sharma 08/10/2017
  6. Madhu tiwari Madhu tiwari 08/10/2017
  7. C.M. Sharma C.M. Sharma 09/10/2017
  8. Madhu tiwari Madhu tiwari 09/10/2017
  9. hitishere Mohit Chahar 10/10/2017
    • Madhu tiwari Madhu tiwari 10/10/2017
  10. डी. के. निवातिया dknivatiya 12/10/2017
    • Madhu tiwari Madhu tiwari 13/10/2017

Leave a Reply