सफ़ा कोरा — डी के निवातिया

सफ़ा कोरा

***

अंदर से ही नहीं बाहर से भी गोरा है
दिल की किताब में जो सफ़ा कोरा है
लिखना है उसपे फ़साना तेरे प्यार का
रंगीन इश्क-ऐ-हर्फ से बंधा दिल मोरा है !!

 

–:: डी के निवातिया ::–

 

18 Comments

  1. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 25/09/2017
    • डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 26/09/2017
  2. chandramohan kisku chandramohan kisku 25/09/2017
    • डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 26/09/2017
  3. SALIM RAZA REWA SALIM RAZA REWA 25/09/2017
    • डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 26/09/2017
  4. kiran kapur gulati kiran kapur gulati 25/09/2017
    • डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 26/09/2017
  5. Bindeshwar prasad sharma Bindeshwar prasad sharma 25/09/2017
    • डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 26/09/2017
  6. sarvajit singh sarvajit singh 25/09/2017
    • डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 26/09/2017
  7. C.M. Sharma C.M. Sharma 26/09/2017
    • डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 26/09/2017
  8. Arun Kant Shukla अरुण कान्त शुक्ला 26/09/2017
    • डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 26/09/2017
    • डी. के. निवातिया dknivatiya 27/09/2017

Leave a Reply