मधुर वाणी – बिन्देश्वर प्रसाद शर्मा (बिन्दु)

वाणी को नियंत्रित कीजिए
आचरण अपने आप सुधर जायेगा
प्रेम से तो पत्थर भी पिघल जाता है
नियत साफ रखिये किस्मत बदल जायेगा।

6 Comments

  1. Madhu tiwari Madhu tiwari 12/09/2017
  2. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 13/09/2017
  3. C.M. Sharma babucm 13/09/2017
  4. Ram Gopal Sankhla Ram Gopal Sankhla 13/09/2017
  5. डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 13/09/2017

Leave a Reply