फल — डी के निवातिया

फल

रहीम काम आय भई, ना काम आय राम !
बाबा कि लुटिया डूबी, बड़े भये बदनाम !!

राम संग रहीम जुड़े, बाबा काटे जेल !
नेता धोखा दे गये, कैसे पाये  बेल !!

करम बुरा जो कीजिये, फल कब अच्छा पाय !
कब तक छुपके रहोगे, एक दिन सब खुल जाय !!

***
डी के निवातिया

9 Comments

  1. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 12/09/2017
  2. Bindeshwar prasad sharma Bindeshwar Prasad sharma 12/09/2017
  3. C.M. Sharma babucm 12/09/2017
  4. Madhu tiwari Madhu tiwari 12/09/2017
  5. दीपेश जोशी 13/09/2017
  6. दीपेश जोशी 13/09/2017
  7. Ram Gopal Sankhla Ram Gopal Sankhla 13/09/2017

Leave a Reply