काश तुम होती

ख़ामोशी है
सन्नाटा है
उदासी है
मायूसी है
काश तुम होती तो ये न होता ….

न भूख है
न प्यास है
न नींद है
न ख्वाब है
काश तुम होती तो ये न होता ….

तुम तो नहीं हो,पर हो सकती थी
मुझे भी ले चलो,कह सकती थी
न यूँ आंसू बहते,ना यूँ मन रोता
न अकेले तुम होती, ना अकेले मैं होता
न अकेले तुम होती, ना अकेले मैं होता
काश तुम होती तो ये न होता ….

12 Comments

  1. Madhu tiwari Madhu tiwari 25/08/2017
    • sudarshan41 25/08/2017
  2. ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 25/08/2017
    • sudarshan41 25/08/2017
  3. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 26/08/2017
    • sudarshan41 26/08/2017
  4. C.M. Sharma babucm 26/08/2017
    • sudarshan41 26/08/2017
  5. डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 26/08/2017
  6. sudarshan41 26/08/2017
    • sudarshan41 27/08/2017

Leave a Reply