कैसन नदिया के इ पानी

शीर्षक-कैसन नदिया के इ पानी

कैसन नदिया के इ पानी
लील गई बचुअन के जीवन
लील गयी भड़कत जवानी
खेतवा डूबल
घर बार छुटल
चुल्हा भींगल
बढ़त जाई परेशानी
कैसन नदिया के इ पानी
कौनो सरकार के होश नाहीं
जे नेतवन के चुनाव जित्वानी
ओकरो कौनो ठौर नहीं
उड़नखटोला उडी अकशिया
नइखे हमरा सुतेले खटिया
छीपा-लोटा सब भास गईल
टिकली- सेनुर सब भूल गैनि
बौआ के दुधवा छुट गईल
भैंसिया पनिया में डूब गईल
हे नदिया कैसन तोहर पानी
काहे बढ़ावत परेशानी
काहे मांगत गरीबन के कुर्बानी –अभिषेक राजहंस

6 Comments

  1. Madhu tiwari Madhu tiwari 22/08/2017
  2. ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 22/08/2017
  3. C.M. Sharma babucm 23/08/2017
  4. डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 23/08/2017
  5. Kajalsoni 24/08/2017