हुनर

पता नही कैसे गैरों से दिल लगा लिया,
उसे तो अपनी हाथों पर मेहंदी भी लगाने नहीं आती थी।

5 Comments

  1. Madhu tiwari madhu tiwari 18/08/2017
  2. C.M. Sharma babucm 19/08/2017
  3. डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 19/08/2017
  4. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 19/08/2017

Leave a Reply