जन्मदिन

समय रुकता नही, चलता लगातार,
टिक-टिक करता, पल-पल अौर बारबार।
लो आया जन्मदिन तेरा, फिर एक बार,
मेरे लिये जैसे है ये, एक पारिवारिक त्योहार,
अभिनंदन, आशीष बधाइयाँ,
मिलती रहे सबसे तुझे अपरंपार।
सितारों की तरह तू चमके,
बहारों की तरह तू झूमें,
परिंदों की तरह तू ऊँचाइयों को छू सके,
सफलता की सीढ़ियाँ तू चढ़ती रहे।
आकाँक्षाएँ तो मेरी हैं अनंत,
काश् हो पाएँ सारी ही जीवंत।

8 Comments

  1. Madhu tiwari Madhu tiwari 09/08/2017
  2. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 10/08/2017
  3. C.M. Sharma babucm 10/08/2017
  4. ANU MAHESHWARI ANU MAHESHWARI 10/08/2017
  5. kiran kapur gulati kiran kapur gulati 11/08/2017
  6. डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 11/08/2017
  7. Kajalsoni 11/08/2017

Leave a Reply