IBN…

हर शख्स यहां अधुरा, हर रिश्ता बिखरा हुआ सा है,
आजकल मिजा़ज मेरे शहेर का कुछ उखड़ा हुआ सा है…

…इंदर भोले नाथ

4 Comments

  1. C.M. Sharma babucm 02/08/2017
  2. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 02/08/2017

Leave a Reply