क्यूँ सोचूँ -प्रशान्त तिवारी

क्यूँ शांत रहा इतने दिन मैं इतना भी ऐसा विचरना क्या था , टाल दिया होता मत को पतझढ़ में बात बिगड़ना ही था। जो बोल रहे वो बोलेंगे …

मैं लौट आऊँगा

शीर्षक –मैं लौट आऊँगा मैं रेत पे खींची लकीर नहीं जो मिट जाऊँगा मैं अतीत का वो हिस्सा नहीं जो दोहराया ना जाऊँगा मै तुम्हारे आँखों का आँसू नहीं …

एक ही प्रेम न जाने कितनी बार

एक ही प्रेम न जाने कितनी बार कितने विभिन्न रुपों में, तेरे से कब, क्यूँ, कैसे हुआ- यह भी स्मरण नहीं। कब प्राण गीतों के सरगम मेरे मुँख से …

वायु के पंछी

वायु के पंछी गीतों के फूल चुनते हैं, बरसात की झड़ी बरसकर फिर व्याकुलता से जाने किसकी राहें देख रहीं, कौन जाने आज गगन का ह्रदय इतनी ज़ोर-ज़ोर क्यूँ …

दीपावली

सब को दीपावली की हार्दिक शुभकामनाएं सब लोग चिंता मुक्त, सुखी रहें सम्पन्न रहें। इस मंच के सभी जन का मान रहे सम्मान रहे सबकी लम्बी आयु रहे,सदा सभी …

दीवाली बीतनी जरुरी है

शीर्षक-दिवाली बीतनी जरुरी है हम हर साल जलाते हैं रौशनी से भरी मिटटी के दीये रुई की बातियाँ जलती हैं रौशनी के लिए हम जलाते दीये गणेश लक्ष्मी की …

दीपावली

रावण मार के घर को आये,खुशी हुई बड़ी भारी…. दीप जलाके मने दीवाली,फैल रही उजियाली… मात कैकई वर मांगा था,राम जाये वन को… सुन माँ की इच्छा खातिर,छोड़ दिया …

दीपोंं का पर्व – मधु तिवारी

🙏🏻💐दीपो का यह पर्व निराला मिलजुल कर मनाते हैं माँ लक्ष्मी की पूजा करके सुख समृद्धि पाते हैं ✍🏻मधु तिवारी की ओर से आप सभी कोदीपावली पर्व की हार्दिक …

प्यार की दिवाली – मेरी शायरी ……. बस तेरे लिए

प्यार की दिवाली दीपों का त्योहार है दिवाली हंसी खुशी और प्यार है दिवाली ………………. मोहब्बत का रंग जब चढ़े किसी पर फिर दिलभर का इज़हार है दिवाली ……………………. …

आई दिवाली

जग मग जग मग आई दिवाली सभी बन्धुओं को मेरा प्रणाम आज अद्भुत शुभ दिन आया न्यारा प्रकाश से आसमान हुआ उजियारा हो स्थापित राम राज्य विश्व में रहे …

दिवाली का पर्व सुहाना आया है

यह पावन दिन चैन-अमन का दुःख-अशांति के नित्य शमन का राम चंद्र के पुनः आगमन का संदेशा लाया है दिवाली का पर्व सुहाना आया है आज रोशनी है खंडहर …

मन का अंधियारा दूर करने

मन का अंधियारा दूर करने मन का अंधियारा दूर करने जैसे ही जला लोगे तुम एक दीप अपने मन में पहुँच जायेंगी दीप पर्व की शुभकामनाएं तुम्हारी मुझ तक …

बस यूं ही जगमगाते रहना

अक्सर और अधिकांश कई लोगों को रौशनी बहुत ही पसंद होती है और जब बात करे दिए कि तो वो बहुत ही सुंदर दिखती है बिल्कुल फूटरी आनंदी की …

दिवाली आज आयी है, जलाओ प्रेम के दीपक

मंगलमय हो आपको दीपों का त्यौहार जीवन में आती रहे पल पल नयी बहार ईश्वर से हम कर रहे हर पल यही पुकार लक्ष्मी की कृपा रहे भरा रहे …